Tagged: कुबेर

0

हिन्दी उपन्यास को नया धरातल देता कुबेर

बी.एल. आच्छा डॉ. हंसा दीप का उपन्यास कुबेर कुछ मायनों में विशिष्ट है। एक फ्लैश बैक, जो ग्रामीण अंचल की टपरी से निकलकर न्यूयॉर्क की झिलमिलाती ज़िंदगी तक ले जाता है। यह गरीबी में...

0

कुबेर

(उपन्यास ‘कुबेर’ का एक पठनीय अंश) उनके बच्चे उनकी ताक़त थे। एक से एक ग्यारह, ग्यारह से एक सौ इक्कीस और आगे इस तरह अपना गणित जारी रखना चाहते थे। आर्यभट्ट, आइंस्टीन और न्यूटन...