हंसा दीप

रुतबा 0

रुतबा

 (कथाबिंब – अप्रैल-सितंबर 2018 में प्रकाशित) आज पीए डे की छुट्टी है। शिक्षकों का ‘प्रोफेशनल एक्टिविटी डे’ बेचारे मम्मी-पापा का ‘घरेलू एक्टिविटी डे’ में बदल जाता है। इस अनपेक्षित छुट्टी के सारे परिणाम मम्मी...

0

उसका बचपन, मेरा बचपना

युग तो नहीं गुजरे मेरा अपना बचपन बीते पर फिर भी न जाने क्यों ऐसा लगता है कि जैसे वह कोई और जमाना था जब मैं और मेरे हमउम्र पैदा होकर बस ऐसे ही...