Category: Uncategorized

0

‘बंद मुट्ठी’ भावनाओं का जीवंत दस्तावेज़

डॉ. विजेंद्र प्रताप सिंह डॉ. हंसा दीप का प्रथम उपन्‍यास ‘बंद मु्ठ्ठी’ सिंगापुर एवं कनाडा के घटनाक्रमों पर आधारित डायरी एवं संस्‍मरण दोनों विधाओं का सम्मिश्रण कहा जा सकता है। अधिकांश उपन्‍यास अतीत की...

रुतबा 0

रुतबा

 (कथाबिंब – अप्रैल-सितंबर 2018 में प्रकाशित) आज पीए डे की छुट्टी है। शिक्षकों का ‘प्रोफेशनल एक्टिविटी डे’ बेचारे मम्मी-पापा का ‘घरेलू एक्टिविटी डे’ में बदल जाता है। इस अनपेक्षित छुट्टी के सारे परिणाम मम्मी...

0

उसका बचपन, मेरा बचपना

युग तो नहीं गुजरे मेरा अपना बचपन बीते पर फिर भी न जाने क्यों ऐसा लगता है कि जैसे वह कोई और जमाना था जब मैं और मेरे हमउम्र पैदा होकर बस ऐसे ही...