Daily Archive: November 29, 2020

0

सैद्धांतिकता के पीछे एक व्यावहारिक पहलू पाठ्यक्रम-पाठन-पठन

विज्ञान में जिस तरह थ्योरी को समझाने के लिये प्रेक्टिकल कक्षाओं की अनिवार्यता तार्किक है वैसे ही शिक्षण संस्थानों से जुड़ी कई सैद्धांतिक संहिताएँ अपने व्यावहारिक पहलुओं के साथ एक नये रूप में उजागर...

0

मुझसे कह कर तो जाते

जीवन में ऐसे क्षण कभी-कभी ही आते हैं जब ऐसी तृप्ति महसूस होती है, बड़ी तृप्ति। छोटी-छोटी तृप्तियों की तो गिनती करना भी संभव नहीं हो पाता जो रोज़ ही महसूस होती हैं। जैसे...

0

अक्स

सब लोग मुझे ‘स्पॉइल्ड चाइल्ड’ कहते हैं पर मेरा दावा है कि मैं नहीं, मेरी नानी ‘स्पॉइल्ड नानी’ हैं, ‘प्राब्लम नानी’ हैं। कोई भी मेरी आपबीती सुने तो उसे पता चले कि सचमुच मेरी...

0

कथा सृजन भी करती है और संघर्ष भी – डॉ. हंसा दीप

कथाकार, लेखिका हंसा दीप से सत्यवीर सिंह की बातचीत मध्यप्रदेश के आदिवासी बहुल इलाके में जन्मी और देश में दस वर्ष तदुपरांत अमेरिका तथा कनाड़ा के उच्च शिक्षा संस्थानों में हिंदी अध्यापन करवाने वाली...

0

हाशिये से बाहर

वे बहुत खुश थीं, इतनी कि वह खुशी पिलकते-पिलकते बाहर आ रही थी। रियूनियन का संदेश जब मिला तो बीते जमाने के सारे साथियों की धुंधली तस्वीरें सामने आने लगीं। उन तस्वीरों के साथ...